वापसी

Share with others

यहां आपको सुनील द्विवेदी द्वारा लिखे कहानी वापसी के सभी प्रश्न और उत्तर जोकि नागालैंड बोर्ड के अल्टरनेटिव हिंदी मैं शामिल है, मिल जाएंगे l Here you will get all the questions and answers of the chapter 4 Wapsi (वापसी) by Sunil Dwivedi, which is a part of the alternative Hindi syllabus of class 10 under Nagaland Board of School Education.

वापसी wapsi NBSE class 10 ALternative hindi chapter 4
Image source: Pexels

नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर दीजिए

1. गजाधर बाबू पैंतीस वर्षों तक कहां कार्यरत थे?

Answer: गजाधर बाबू पैंतीस वर्षों तक रानीपुर रेलवे स्टेशन में रेल सेवा में कार्यरत थे l

2. गणेशी कौन था? वह किसका बिस्तर बांध रहा था?

Answer: गणेशी रानीपुर रेलवे स्टेशन में चाय-नाश्ता, पूरिया, जलेबी, आदि बेचता था l वह गजाधर बाबू का बिस्तर बांध रहा था l

3. गजाधर बाबू को अकेले क्यों रहना पड़ता था?

Answer: बच्चों की उज्जवल भविष्य एवं अच्छी शिक्षा के लिए गजाधर बाबू ने अपने बच्चों को शहर भेज दिया और खुद रानीपुर जैसे छोटे रेलवे स्टेशन में कार्य करने लग गए l इसीलिए गजाधर बाबू को अकेले रहना पड़ता था l

4. गजाधर बाबू को देखते ही कहा सन्नाटा छा गया और क्यों?

Answer: गजाधर बाबू को देखते ही उनके घर में सन्नाटा छा गया क्योंकि वह अचानक कमरे में प्रवेश हुए और बच्चे उनसे डरते थे l

5. गजाधर बाबू के आने के पहले कौन क्या कर रहा था?

Answer: गजाधर बाबू के आने से पहले नरेंद्र कमर पर हाथ रखे नाच रहा था और बसंती हंस-हंसकर ढेर हुई जा रही थी और अमर की बहू को अपने तन- बदन या आंचल या घुंघट का कोई होश ना था l

6. गजाधर बाबू से उनके पत्नी ने क्या पूछा?

Answer: जब गजाधर बाबू पैंतीस साल की नौकरी से सेवानिवृत्त होकर घर आए तो उनकी पत्नी ने उनसे पूछा कि- ” आप अकेले क्यों बैठे हो और बच्चे कहां चले गए?”

7. नरेंद्र ने खाने के संबंध में क्या कहा?

Answer: नरेंद्र ने खाने के संबंध में यह कहा कि वह ऐसा खाना नहीं खा सकता l

8. खाना बनाने वाले ने नरेंद्र की बात का उत्तर किन शब्दों में दिया?

Answer: खाना बनाने वाले ने नरेंद्र की बात का उत्तर इस प्रकार दिया- “तो मत खाओ! कौन तुम्हारी खुशामद करता है?”

निम्नलिखित प्रश्नों के उत्तर 3-4 वाक्यों में दीजिए

1. गजाधर बाबू को अपनी पत्नी की कौन-कौन से याद आती थी?

Answer: गजाधर बाबू को अपनी पत्नी की यह बातें याद आती थी कि वह दोपहर में दो बजे तक आग सुलगाये रहती और उनके लिए खाना गर्म रखती l उनके मना करने पर भी थोड़ा सा कुछ और थाली में परोस देती और बड़े प्यार से आग्रह करती l जब वह बाहर से आते तो उनकी आहट पर बहुत चौक के द्वार पर निकल आती और उसके सलज्ज आंखें मुस्कुरा उठते l

2. पत्नी ने जूठे बर्तनों को देखकर अपने पति से क्या शिकायत की?

Answer: पत्नी ने जूठे बर्तनों को देखकर अपने पति से यह शिकायत की, “इस घर में धर्म-कर्म कुछ नहीं l पूजा करके फिर वही झूठा सकरा छुओ l किसी से इतना भी नहीं होता कि रात से पिए बर्तन ही समेट दें l”

3. उनकी पत्नी का कमरा कैसा था?

Answer: उनकी पत्नी का कमरा छोटा था जिसका एक कोना अचारो के मर्तबान, दाल-चावल के कनस्तरो और घी के डिब्बे से गिरा था l दूसरी और पुरानी दरियों में लपेटी और रस्सी से बांधी रजाई रखी थी l

4. उनकी पत्नी की नींद कैसे खुल गई? भीतर से लौटकर आने पर उसका मुंह क्यों फुला हुआ था?

Answer: रसोई घर में कुछ गिरने के बाद उनकी पत्नी की नींद खुल गई l

भीतर से लौट कर आने पर उसका मुंह फुला हुआ था क्योंकि बहू रसोई खुली छोड़ आई थी और बिल्ली ने डाल की पतीली गिरा दी थी और उस वक्त तक किसी ने खाना नहीं खाया था l

5. गजाधर बाबू के आने से पहले अमर ने अलग होने की बात क्यों नहीं सोची?

Answer: गजाधर बाबू के आने से पहले अमर ने अलग होने की बात नहीं सोची क्योंकि पहले अमर ही घर का मालिक बनकर रहता था l बहू को कोई रोक-टोक नहीं थी l अमर के दोस्तों का प्राय यही अड्डा लगा रहता और अंदर से चाय और नाश्ता जाता रहता था l

6. गजाधर बाबू के व्यवहार में क्या परिवर्तन हो गया था?

Answer: गजाधर बाबू के व्यवहार में यही परिवर्तन आया था कि पहले पहले वे किसी भी बात में दखल दिया करते थे और घर के सदस्यों से प्रश्न पूछा करते l किंतु बच्चों और अपनी पत्नी की व्यवहार जानने के बाद वह कम बोलने लगे थे l नरेंद्र रुपए मांगने आता तो बिना कारण पूछे उसे रुपए दे देते थे l

7. घर में अपनी स्थिति के बारे में गजाधर बाबू क्या सोचने लगा?

Answer: घर में अपनी स्थिति के बारे में गजाधर बाबू यह सोचने लगा कि वह पत्नी और बच्चों के धन उपार्जन के एक नी स्रोत मात्र है l उनकी उपस्थिति उस घर में असंगत लगने लगे l उन्होंने सोचा कि अब वह किसी बात में दखल ना देंगे और उनकी सारी खुशी एक गहरी उदासीनता में डूब गई l

8. नरेंद्र ने अपनी मां से बाबूजी के बारे में क्यों शिकायत की?

Answer: नरेंद्र ने अपनी मां से बाबूजी के बारे में शिकायत की, “अम्माँ! तुम बाबू जी से कुछ कहती क्यों नहीं? बैठे-बिठाए कुछ नहीं तो नौकर ही छुड़ा दिया l अगर वह समझते हैं कि मैं साइकिल पर गेहूं रखकर आटा पिसने जाऊंगा, यह मेरे बस की बात नहींl”

9. बसंती ने उसकी हां में हां मिलाते हुए क्या कहा?

Answer: बसंती ने उसकी हां में हां मिलाते हुए यह कहा कि, “हां अम्माँ, मैं कॉलेज भी जाओ और लौटकर घर में झाड़ू भी लगाओ, यह मेरे बस की बात नहीं l”

10. बच्चों की मां ने भी उनके बात का समर्थन करते हुए क्या कहा?

Answer: बच्चों की मां ने समर्थन करते हुए कहा कि, ” और कुछ नहीं सूझा तो तुम्हारी बहू को ही चौक में भेज दिया l वह गई तो पन्द्रह दिन का राशन पाँच दिन में ही खत्म कर दिया l

11. गजाधर बाबू को क्यों लगा कि वह जिंदगी द्वारा ठगे गए हैं?

Answer: गजाधर बाबू को लगा कि वह जिंदगी द्वारा ठगे गए हैं कारण उन्होंने जो कुछ चाहा उसमें से उन्हें एक बूंद भी ना मिला l जिन बच्चों के भविष्य के लिए उन्होंने अपनी जिंदगी गवा दी, उन बच्चों के जिंदगी में गजाधर बाबू का कोई स्थान नहीं था l आज उनके बच्चे और पत्नी उन्हें अपना बोझ समझने लगे थे l

Click here for the notes of the other chapters of NBSE class 10 Alternative Hindi.


Share with others

Comment with facebook